back to top

चक्रवात फोनी: प्रभु ने हवाई अड्डा अधिकारियों को सावधान रहने को कहा

नई दिल्ली। नागरिक विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने गुरूवार को कहा कि चक्रवात फोनी से निपटने के लिए सभी हवाई अड्डा प्राधिकारियों को सावधान रहने को कहा गया है । फोनी के ओडिशा के तटीय क्षेत्र में प्रवेश करने की संभावना है।

अन्य राज्यों जैसे पश्चिम बंगाल

पूर्वी तट के अन्य राज्यों जैसे पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु के भी इससे प्रभावित होने की संभावना है। प्रभु ने ट्वीट कर कहा, सभी संबंधित प्राधिकार को सावधान करते हुए फोनी चक्रवात से निपटने के लिए तैयार रहने को कहा गया है। भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण ने सभी तटीय हवाई अड्डों को सावधान किया है ताकि सभी एहतियात तत्काल बरते जाएं। भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण पूरे देश में 100 से अधिक हवाई अड्डों का प्रबंधन करता है। प्रभु ने कहा कि स्थिति की निगरानी उच्चतम स्तर पर की जाएगी और एयरलाइनों तथा अन्य सभी को पूरी तरह से तैयार रहने के लिए कहा गया है। आने वाले चक्रवात के कारण विभिन्न घरेलू एयरलाइनों का परिचालन पहले ही प्रभावित हो चुका है।

यात्रा परामर्श जारी करते हुए कहा है

इंडिगो ने ट्विटर पर यात्रा परामर्श जारी करते हुए कहा है, चक्रवात फोनी के कारण विशाखापत्तनम से आने और जाने वाले विमानों को आज (दो मई 2019) रद्द कर दिया गया है। एयरलाइन ने यह भी कहा है कि यात्रा विकल्प अथवा टिकट वापसी के लिए कंपनी के वेबसाइट पर संपर्क कर सकते हैं। विस्तारा एयरलाइन ने भी ट्विटर पर यात्रा परामर्श जारी करते हुए कहा है कि दो और तीन मई को फोनी का असर संभवत: भुवनेश्वर और कोलकाता में रहेगा, इसलिए यह उन विमानों में टिकटों में बदलाव करने अथवा रद्द करने का शुल्क माफ कर रही है जो इन दो हवाई अड्डों पर आएंगे और यहां से जाएंगे।

Latest Articles