back to top

भारत एक्सेलसन ने दूसरी बार जीता इंडिया ओपन, इंतानोन तीसरी बार बनीं चैंपियन

नई दिल्ली। पूर्व विश्व चैंपियन और दुनिया के चौथे नंबर के खिलाड़ी डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसन ने फाइनल में भारत के तीसरे वरीय किदांबी श्रीकांत को सीधे गेम में हराकर रविवार को यहां दूसरी बार योनेक्स सनराइज इंडिया ओपन के पुरुष एकल का खिताब जीता जबकि थाईलैंड की चौथी वरीय रतचानोक इंतानोन भी एकतरफा मुकाबले में जीत के साथ तीसरी बार महिला एकल चैंपियन बनीं।

2015 के चैंपियन श्रीकांत को 21-7 22-20 से हराकर

दूसरे वरीय एक्सेलसन ने 36 मिनट चले मुकाबले में 2015 के चैंपियन श्रीकांत को 21-7 22-20 से हराकर खिताब जीता। चौथी बार इंडिया ओपन के फाइनल में खेल रहे एक्सेलसन ने इसके साथ ही 2015 के फाइनल में श्रीकांत के खिलाफ मिली हार का बदला भी चुकता कर दिया। एक्सेलसन ने इससे पहले 2017 में भी यहां खिताब जीता था। श्रीकांत के खिलाफ आठ मैचों में यह एक्सेलसन की पांचवीं जीत है। दुनिया की आठवें नंबर की खिलाड़ी इंतानोन ने 46 मिनट चले फाइनल में दुनिया की सातवें नंबर की खिलाड़ी और तीसरी वरीय चीन की ही बिंगजियाओ को 21-15 21-14 से हराया।

दूसरी वरीय पीवी सिंधू को सीधे गेम

सेमीफाइनल में भारत की दूसरी वरीय पीवी सिंधू को सीधे गेम में हराने वाली बिंगजियाओ के पास आज इंतानोन की तेजी का कोई जवाब नहीं था और शुरू से ही बेहतरीन लय में दिखी। इंतानोन ने दोनों की गेम में अच्छी शुरुआत की और एक बार बढ़त बनाने के बाद बिंगजियाओ का वापसी का कोई मौका नहीं दिया। वर्ष 2013 और 2016 की चैंपियन इंतानोन की बिंगजियाओ के खिलाफ पांच मैचों में यह पहली जीत है। श्रीकांत और एक्सेलसन के बीच शुरू से ही रोमांचक मुकाबला देखने को मिला। एक्सेलसन अपने दमदार स्मैश और कोर्ट कवरेज से हावी होने में सफल रहे। भारतीय खिलाड़ी ने वापसी की कोशिश की लेकिन इसके बावजूद एक्सेलसन ब्रेक तक 11-7 से आगे थे।

श्रीकांत को एक्सेलसन के स्मैश रिटर्न

श्रीकांत को एक्सेलसन के स्मैश रिटर्न करने में खासी परेशानी हो रही जिसका डेनमार्क के दूसरे वरीय खिलाड़ी ने पूरा फायदा उठाया। श्रीकांत ने ब्रेक के बाद लगातार गलतियां की जिससे एक्सेलसन ने लगातार 12 अंक जुटाकर पहला गेम सिर्फ 12 मिनट में अपने नाम किया। एक्सेलसन ने दूसरे गेम में भी अच्छी शुरुआत करते हुए 3-0 की बढ़त बनाई। इन्होंने इस बीच दो गेम में लगातार 15 अंक जीते। श्रीकांत काफी रक्षात्मक होकर खेले। उन्होंने कई शाट नेट पर भी उलझाए और बाहर मारे। एक्सेलन ने 6-10 की बढ़त बनाई लेकिन श्रीकांत कुछ वापसी करते हुए ब्रेक तक स्कोर 9-11 करने में सफल रहे। ब्रेक के पास श्रीकांत ने अचानक आक्रामक रवैया अपनाया जिसका उन्हें फायदा मिला।

भारतीय खिलाड़ी 12-12 के स्कोर पर बराबरी

भारतीय खिलाड़ी 12-12 के स्कोर पर बराबरी हासिल करने में सफल रहा। दबाव के बीच एक्सेलसन ने भी कई़ गलतियां की जिससे श्रीकांत 17-16 और फिर 19-17 की बढत बनाने में सफल रहे। श्रीकांत ने 19-18 के स्कोर पर दमदार क्रास कोर्ट स्मैश के साथ दो गेम प्वाइंट हासिल किए। भारतीय खिलाड़ी हालांकि अगले अंक पर शाट बाहर मार गया और फिर एक्सेलसन ने नेट पर तेज शाट के साथ दूसरा गेम प्वाइंट भी बचाया। श्रीकांत ने अगला अंक नेट पर उलझाकर एक्सेलसन को मैच और चैंपियनशिप अंक दिया। एक्सेलसन ने इसके बाद दमदार स्मैश के साथ खिताब अपने नाम किया।

Latest Articles