back to top

उत्तर प्रदेश: दूसरे चरण में दिखा मतदाताओं का जोश, एक बजे तक 39 प्रतिशत मतदान

लखनऊ। लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में उत्तर प्रदेश की आठ सीटों पर मतदान पूरे उत्साहपूर्वक जारी है। अपराह्न एक बजे तक शांतिपूर्ण माहौल के बीच करीब 39 प्रतिशत वोट पड़े।

राज्य के मुख्य निर्वाचन

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एल. वेंकटेश्वर लू ने बताया कि दूसरे चरण में राज्य की आठ सीटों नगीना, अमरोहा, बुलंदशहर, अलीगढ़, हाथरस, मथुरा, आगरा तथा फतेहपुर के लिए मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ था, जो शाम छह बजे तक चलेगा। अपराह्न एक बजे तक इन सभी सीटों पर औसतन 38.94 प्रतिशत मतदान हो चुका था। उन्होंने बताया कि दोपहर एक बजे तक नगीना में 38.71 प्रतिशत, अमरोहा में 43.26 प्रतिशत, बुलंदशहर में 39.70 प्रतिशत, अलीगढ़ में 37.60 प्रतिशत, हाथरस में 41.18 प्रतिशत, मथुरा में 36.90 प्रतिशत, आगरा में 38.24 प्रतिशत और फतेहपुर सीकरी में 35.96 प्रतिशत वोट पड़े। उन्होंने बताया कि मतदान शांतिपूर्ण तरीके से जारी है।

मतदाताओं में खासा जोश नजर आ रहा

मतदाताओं में खासा जोश नजर आ रहा है। इस बीच, कई स्थानों पर इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) में गड़बड़ी के कारण मतदान बाधित होने की खबरें भी मिली हैं। बुलंदशहर में कई स्थानों पर जबकि अलीगढ़ और नगीना में भी कुछ जगहों पर ऐसी शिकायतें सामने आईं। हालांकि चुनाव आयोग ने इनकी पुष्टि नहीं की है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने प्रदेश में कई जगह इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) में खराबी आने पर चिंता जाहिर करते हुए निर्वाचन आयोग से फौरी कार्वाई सुनिश्चित करने की मांग की। उन्होंने संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि यह आयोग की जिम्मेदारी है।

ईवीएम खराब होने की कोई सूचना मिलती है तो

अगर ईवीएम खराब होने की कोई सूचना मिलती है तो वह ज्यादा से ज्यादा 15 मिनट में मशीन बदले ताकि समय पर मतदान प्रक्रिया पूरी हो सके। अखिलेश ने ईवीएम पर सवाल उठाते हुए कहा लोग तकनीक पर भरोसा नहीं कर पा रहे हैं। इस बारे में आयोग और सरकार को भरेासा दिलाना चाहिए। सपा, बसपा समेत कई दल उच्चतम न्यायालय तक अपना पक्ष रख चुके हैं। सच्चाई यह है कि दुनिया में पहले जहां भी ईवीएम से मतदान होता था, वहां अब मतपत्रों का इस्तेमाल किया जाता है।

Latest Articles