back to top

फर्जी खबरों पर रोक के लिए सोशल मीडिया पर आयोग की होंगी पैनी निगाहें

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने सोमवार को कहा कि अधिकारी स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए फर्जी खबरों और नफरत भरे भाषणों पर अंकुश लगाने के लिए सोशल मीडिया पर कड़ी नजर रखेंगे।

लोकसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा

चुनाव आयोग द्वारा लोकसभा चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के एक दिन बाद सिंह ने भी लोगों से, मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए पैसे, उपहार या शराब बांट जाने, मतदाताओं को डराने-धमकाने के लिए बाहुबल का इस्तेमाल किए जाने या नफरत भरे भाषण दिए जाने जैसे किसी भी तरह के आदर्श आचार संहिता उल्लंघन की रिपोर्ट करने के लिए आयोग के एप सी विजिल का इस्तेमाल करने की अपील की है। आम चुनाव 11 अप्रैल को शुरू होगा और सात चरणों में यह संपन्न होगा। दिल्ली में 12 मई को मतदान होगा।

चुनाव आयोग ने जनवरी में…

चुनाव आयोग ने जनवरी में दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को दिल्ली पुलिस को लोकसभा चुनाव कार्यक्रम की फर्जी खबरों की जांच करने को कहने का निर्देश दिया था। सोशल मीडिया पर फर्जी चुनाव कार्यक्रम आया था। सिंह ने कहा कि दिल्ली निर्वाचन कार्यालय की मीडिया प्रमाणन एवं निगरानी समिति में पहली बार एक सोशल मीडिया विशेषज्ञ को शामिल किया गया गया है। समिति राज्य स्तर और जिला स्तर पर निगरानी करेगी। उन्होंने कहा, अधिकारी फर्जी खबरों और नफरत भरे भाषण पर अंकुश लगाने के लिए टीवी, रेडियो तथा फेसबुक एवं ट्विटर समेत सोशल मीडिया सहित सभी प्रकार के मीडिया की निगरानी करेंगे।

रिपोर्ट जिला स्तर पर की जाएगी

व्यक्तिगत उल्लंघनकर्ता के लिए इसकी रिपोर्ट जिला स्तर पर की जाएगी, राजनीतिक दलों के लिए किसी भी उल्लंघन की रिपोर्ट राज्य स्तर पर की जाएगी। जब उनसे पूछा गया कि ऐसे उल्लंघनकर्ताओं के खिलाफ क्या कार्वाई की जाएगी तो उन्होंने कहा कि कानून के अनुसार उपयुक्त कार्वाई होगी। सिंह ने लोगों से इंटरनेट आधारित एप सीविजिल का इस्तेमाल करने की अपील की। उन्होंने कहा, यदि लोग मतदाताओं को प्रभावित करने के लिए पैसा, उपहार या शराब बांटने या उन्हें डराने धमकाने के लिए बाहुबल का इस्तेमाल करने या नफरत भरे भाषण देने जैसा आदर्श आचार संहिता उल्लंघन देखते हैं तो वे उसका फोटो लेकर या वीडियो बनाकर इस एप्प के माध्यम से रिपोर्ट कर सकते हैं। दिल्ली में करीब 1.39 करोड़ मतदाता हैं।

Latest Articles