back to top

चांदी के मुकुट धारण कर भ्रमण पर निकलेंगे भगवान जगन्नाथ, तैयारी शुरू

लखनऊ। राजधानी में भगवान जगन्नाथ रथयात्रा की तैयारियां शुरू हो गई है। शहर में अमीनाबाद, मोतीनगर, अलीगंज व डालीगंज से भगवान की रथ यात्राएं निकाली जाती है। चौपटिया, रानी कटरा स्थित चारों धाम मंदिर की रथ यात्रा लगभग 122 वर्ष पुरानी है। रथयात्रा उत्सव 7 जुलाई को मनाया जाएगा। हिन्दी कैलेण्डर के अनुसार आषाढ़ मास की शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि को यह यात्रा निकाली जाती है।
यात्रा उत्सव के संयोजक मंडल के सदस्य आशीष अग्रवाल ने बताया कि इस बार भगवान का सिंहासन चांदी से नए तरीके से बनाया जाएगा। सदस्य रिद्धि किशोर गौड़ ने बताया चारों धाम पालकी यात्रा मंदिर से दोपहर को 12 बजे से प्रारंभ होकर देवी मंदिर चौराहा पहुंचेगी। उसके बाद भगवान जगन्नाथ बलभद्र भैया, माता सुभद्रा लोगों को दर्शन देने के लिए दिलाराम बारादरी, चौपटिया, खेत गली का भ्रमण करेंगे। भक्त जोर-शोर से भगवान के आगमन की तैयारी में जुट गए हैं। अनुराग साहू ने बताया कि डालीगंज में इस बार रथ को चार कुंटल फूलों सजाया जाएगा, बनारसी वस्त्र और चांदी का मुकुट धारण कर नगर भ्रमण को निकाला जाएगा वहीं पूरे रास्ते रथ के आगे भक्तों द्वारा झाड़ू लगाते, इत्र की वर्षा करते हुए दिखगें। रथ 40 फीट लंबी रस्ता से बांधकर भक्तो द्वारा खींचकर भगवान जगन्नाथ को नगर भ्रमण कराया जाएगा।

फूलो की वर्षा के बीच नगर भ्रमण:
जगन्नाथ स्वामी नयन पथगामी भवतुमय, जय जगन्नाथ जय बलदेव जय मायी सुभद्रा की प्राथना के साथ फूलो की वर्षा के बीच नगर भ्रमण पर देश विदेशी फूलो से सजा रथ विराजमान होकर तथा बनारसी वस्त्र, चांदी का मुकुट धारण किये हुए भगवान जगन्नाथ भक्तो के कष्ट हरने को 7 जुलाई 4:30 बजे शहर में सबसे पहले पूरी के तर्ज पर डालीगंज स्थित माधव मन्दिर निकलेगी । महामंत्री अनुराग साहू ने बताया कि इस बार भगवान जगन्नाथ रथ महोत्सव में बाहर से कलाकार अपनी सेवा में वृन्दावन का मयूर नृत्य, उज्जैन की प्रभात फेरी में डमरू व शंख ध्वनि से स्वागत, मुम्बई गणपति उत्सव का बैंड तथा दस पंजाबी ढोल बजाकर यात्रा में अपनी सेवाए तथा वानर सेवा के जय श्री राम के जयकारे लगते चलेगे।

भजनों की वर्षा:
रथ यात्रा में आये हर भक्त को जामुन, मीठे चावल, बूंदी प्रसाद स्वरूप वितरित की जाएगी तथा यात्रा सबसे आगे 15 फीट हनुमान रथ यात्रा की अगुवायी करते चलेगी। भजन गायक पवन मिश्र भी यात्रा के दौरान भजनो की वर्षा करेगा। इस्कॉन ब्रह्मचारी प्रभु द्वारा संकीतन हरे कृष्ण हरे कृष्ण…महामंत्र एवं जय जगन्नाथ जय जगन्नाथ… एवं हरि नाम संकीर्तन की वर्षा करेगे। देश विदेश भक्तो के लिए फेकबुक पेज पर लाइव प्रसारण दिया जाएगा

56प्रकार का लगेगा भोग
रथ यात्रा के मार्ग के पांच मुख्य स्थानों पर सेब, केला, अंगूर, आम, काजू, पिस्ता, बादाम, तीस से अधिक प्रकार की मिठाईयो का भोग लगाया जाएगा। जगन्नाथ जी रथ यात्रा माधव से प्रारम्भ होकर नजीरगंज, शंकरनगर, निरालानगर, श्रीकृष्ण मठ, आई टी चौराहा, बाबूगंज, फैजाबाद रोड, इक्का अड्डा, डालीगंज पुल होते हुआ डालीगंज बाजार, हसनगंज कोतवाली, माधव मंदिर चौराह पर सम्पन्न होगी। रथ के यात्रा भक्तो द्वारा झाड़ू लगा कर अपनी सेवा देगे

फूलों से सजी चांदी की पालकी पर होंगे सवार
लखनऊ। चारों धाम रथ यात्रा समिति की ओर से चांदी की पालकी में भगवान जगन्नाथ दोपहर 12 बजे यात्रा पर निकलेंगे। ये यात्रा रानीकटरा स्थित चारों धाम मंदिर से चौपटिया, दिलाराम बारादरी होते हुए खेत गली ठाकुर द्वारा में विश्राम कर चारों धाम मंदिर वापस आएगी। आयोजक समिति के सदस्य ऋद्धि गौड़ ने बताया कि भगवान जगन्नाथ, बलभद्र और माता सुभद्रा की चंदन की प्राचीन मूर्तियां चांदी की पालकी में शहर भ्रमण पर निकलेगी।

कपूरथला:
कपूरथला के जगन्नाथ मंदिर से भगवान जगन्नाथ 24 फिट ऊंचे रथ पर यात्रा करेंगे। यात्रा दोपहर 12:30 बजे जगन्नाथ मंदिर कपूरथला से निकलेगी। 98 हजार रुपये मूल्य की चांदी की झाड़ू से जगन्नाथ भगवान की यात्रा का मार्ग साफ किया जाएगा। मंदिर के बाद अलीगंज नॉवेल्टी सिनेमा, इंडियन आॅयल चौक, नगर निगम चौराहा 3 कार्यालय, चन्द्रलोक हाइडिल कॉलोनी, नीरा नर्सिंग होम, मिडलैंड क्रॉस होते हुए अलीगंज के नए हनुमान मंदिर पर संपन्न होगी।

चौक:
श्री जगन्नाथ रथ यात्रा एवं नवरात्रि मेला प्रबंधन समिति की ओर से दोपहर एक बजे तीन रथ रवाना किए जाएंगे। जो बड़ी कालीजी मंदिर चौक, नाई बाड़ा, माली खां सराय, कक्कड़ पार्क, चौपटिया, भोलानाथ कुआं, अकबरी गेट, सरार्फा बाजार, चौक चौराहा, कोणेश्वर मंदिर, लाजपत नगर होते हुए कुड़ियाघाट पहुंचेंगे। शाम 5:30 बजे वहां भगवान को गोमती नदी में नौका विहार करवाया जाएगा। वहां से हरदोई रोड, कालीजी बाजार होते हुए यात्रा को वापस बड़ी कालीजी मंदिर लाया जाएगा।

मोतीनगर:
मोतीनगर स्थित श्रीगौड़ीया मठ से जगन्नाथ यात्रा शाम 4 बजे निकाली जाएगी। स्वचालित रथ जगन्नाथ यात्रा में कोलकाता, ओडिशा, मुंबई, दिल्ली, कुरुक्षेत्र, मथुरा, वृंदावन, पटना, मुगलसराय, बनारस, इलाहाबाद से भी मठ के अनुयायी शामिल होंगे। यह यात्रा गौड़ीया मठ से शुरू होकर ऐशबाग, नाका हिण्डोला, बांसमंडी चौराहा, लाटूश रोड, श्रीराम रोड, अमीनाबाद रोड, फतेहगंज, नाका हिंडोला, आर्य नगर, मोतीनगर चौराहा होते हुए वापस श्रीगौड़ीया मठ पहुंचेगी।

ऐशबाग:
श्रीभगवान जगन्नाथ सेवा समिति की ओर से ऐशबाग से शाम छह बजे यात्रा निकाली जाएगी। यह यात्रा कन्हैया लाल रोड, कन्डहा, टिकैतगंज, नेहरू क्रॉस, सिद्धनाथ मंदिर, यहियागंज गुरुद्वारा, मूलचंद रस्तोगी अस्पताल होते हुए फतेश्वर महादेव, नवाबगंज ऐशबाग फाटक, वाटरवर्क्स रोड, पीलीकॉलोनी आईटी कॉलोनी ऐशबाग में सम्पन होगी। इसमें देवी-देवताओं की झांकियां भी शामिल होंगी।

जगन्नाथ रथ यात्रा से पूर्व विश्व शांति सद्भावना सामूहिक यज्ञ

लखनऊ। डालीगंज श्री राधा माधव सेवा संस्थान के बैनर तले स्थित 63 वा श्री माधव मंदिर वार्षिकोत्सव व जगन्नाथ रथयात्रा महोत्सव कार्यक्रम में जगन्नाथ रथ यात्रा से पूर्व विश्व शांति सद्भावना सा यज्ञ का आयोजन पुजारी लालता प्रसाद द्वारा किया गया।
महामंत्री अनुराग साहू ने बताया कि यज्ञ में औषधि वाले पेड़ जैसे आम की लकड़ी, जौ, तिल, गाय के दूध से बना घी और करीब 55 तरह की अलग-अलग औषधि व लकड़ियों से हवन को आहुति देकर विश्व शांति सद्भावना यज्ञ संपन्न कराया गया। श्याम जी साहू ने बताया कि हवन यज्ञ करने का उद्देश्य औषधियां वातावरण में सकारात्मक ऊर्जा का निर्माण करती हैं, साथ ही कई तरह के बीमारी फैलाने वाले बैक्टिरिया को खत्म करते हैं। प्रकृति के लिए भी ये काफी सहायक हैं। प्रकृति को संतुलित करते हैं, वातावरण को दूषित होने से बचाते हैं।

आज होगी नृत्य नाटिका
उपाध्यक्ष धनश्याम दास अग्रवाल ने बताया कि 5 जुलाई को साय 4.30 बजे डालीगंज पन्ना लाल चौराहा स्थित उमराव सिंह धर्मशाला में अनुज मिश्रा ग्रुप के कलाकारों द्वारा भगवान श्री कृष्ण लीलाओं पर आधारित नृत्य नाटिका का आयोजित होगी।

Latest Articles