back to top

अजहर के आतंकवादी घोषित होने से बची संयुक्तराष्ट्र की सूचिता और साख: संरा

संयुक्त राष्ट्र। मई के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष डिआन त्रिआन्सिआ डजानी का कहना है कि जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद प्रतिबंध समिति की शुचिता और साख की रक्षा हुई है।

संयुक्त राष्ट्र में इंडोनेशिया के

संयुक्त राष्ट्र में इंडोनेशिया के स्थाई प्रतिनिधि डजानी एक मई से 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष बने हैं। उन्होंने अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित करने पर 1267 अल-कायदा प्रतिबंध कमेटी के सभी सदस्यों को बधाई दी। संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में संवादाताओं से बातचीत के दौरान डजानी ने कहा, मैं सिर्फ रेखांकित करना चाहूंगा कि… यह सिर्फ अध्यक्ष का काम नहीं है, बल्कि यह समिति के सभी सदस्यों का काम है जो इस (अजहर) मुद्दे पर जोर-शोर से काम कर रहे थे। लेकिन ज्यादा महत्वपूर्ण है कि हम संयुक्त राष्ट्र की शुचिता और साख बचाने में सफल रहे हैं और हम (अजहर को आतंकवादी की) सूची में डालने में सफल हुए हैं।

अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने

वह अजहर को वैश्विक आतंकवादी घोषित किए जाने और समिति के फैसले में उनकी भूमिका के संबंध में किए गए पीटीआई..भाषा के सवालों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा, जैसा कि मैंने कहा, हम इंडोनेशियाई बहुत विनम्र होते हैं। मैं सिर्फ बतौर अध्यक्ष अपना काम करने की कोशिश कर रहा हूं, सभी पक्षों को नियमानुसार साथ लाने का प्रयास कर रहा हूं। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि राजदूत सैयद अकबरूद्दीन ने पूरे घटनक्रम के बाद एक वीडियो बयान में खास तौर से डजानी को धन्यवाद दिया। अकबरूद्दीन ने कहा, मैं इंडोनेशिया के स्थाई प्रतिनिधि को धन्यवाद देना चाहूंगा। उन्होंने इसमें महती भूमिका निभाई है।

Latest Articles