back to top

अधिकारियों से लिखित आश्वासन मिलने के बाद किसानों का धरना समाप्त

नोएडा। डीएनडी फ्लाई-वे पर पिछली रात से चल रहा किसानों का धरना शनिवार को अधिकारियों से मिले इस लिखित आश्वासन के बाद समाप्त हो गया कि उनके मुद्दों को राज्य सरकार के समक्ष उठाया जाएगा। किसान, उत्तर प्रदेश में 2013 से पहले जिन जमीनों का अधिग्रहण किया गया था, उनका बढ़ा हुआ मुआवजा मांग रहे हैं। किसान नेता मनवीर तेवतिया के नेतृत्व में किसान उदय अभियान संगठन के किसानों ने दिल्ली से नोएडा को जोडऩे वाले डीएनडी फ्लाईवे पर कल प्रदर्शन किया था।

500 किसानों को दिल्ली में प्रवेश की इजाजत नहीं

इस वजह से शुक्रवार को डीएनडी मार्ग को कुछ देर के लिए बंद करना पड़ा और यातायात अवरुद्ध हो गया। गौतमबुद्घ नगर, गाजियाबाद, अलीगढ़ और मेरठ के करीब 500 किसानों को दिल्ली में प्रवेश की इजाजत नहीं दी गई जिसके बाद उन्होंने डीएनडी पर ही डेरा डाल दिया और शनिवार दोपहर बाद ही वहां से लौटे। प्रदर्शन में गांवों की महिलाएं भी बड़ी संख्या में शामिल हुईं। वे अपना सिर ढके हुए थीं। वे खुद को असहाय दिखाते हुए प्रतीक रूप में कपड़े से हाथ बांधे हुई थीं। एक किसान ने कहा, हमने अपने हाथ बांध लिए हैं। अगर पुलिस या प्रशासन कोई कार्वाई करना चाहता है तो वे कर सकते हैं, हम कोई जवाब नहीं देंगे। जिलाधिकारी बीएन सिंह और एसएसपी वैभव कृष्ण समेत गौतमबुद्ध नगर के वरिष्ठ अधिकारी शनिवार सुबह मौके पर पहुंचे और किसानों को समझाने का प्रयास किया।

किसान नेता मनवीर तेवतिया ने बताया

किसान नेता मनवीर तेवतिया ने बताया कि जिलाधिकारी बृजेश नारायण सिंह ने उन्हें लिखित आश्वासन दिया है कि वह एक सप्ताह के अंदर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से किसानों की मुलाकात करवाएंगे। जिसमें उनकी विभिन्न समस्याओं का निराकरण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि डीएम ने उन्हें आश्वासन दिया है कि यमुना एक्सप्रेसवे विकास प्राधिकरण के अधिकारियों के साथ तीन दिन के अंदर बैठक करके किसानों की समस्याओं का समाधान कराने का प्रयास किया जाएगा। तेवतिया ने बताया कि जिलाधिकारी के लिखित आश्वासन के बाद किसान नेता डीएनडी पर चल रहे धरने को समाप्त करके वापस लौट गए। जिलाधिकारी ने बताया कि किसानों की समस्याओं के समाधान का प्रयास किया जाएगा।

हमने किसानों को आश्वासन दिया है

जिलाधिकारी ने कहा, हमने किसानों को आश्वासन दिया है कि उनकी चिंताओं को अधिकारियों और राज्य सरकार के समक्ष उठाया जाएगा। वे आश्वासन से संतुष्ट हैं और मामले को सौहार्दपूर्ण तरीके से सुलझाया जाएगा। हालांकि तेवतिया ने चेतावनी दी कि अगर अधिकारियों ने उनकी बात नहीं मानी तो वे किसानों के साथ दिल्ली लौटेंगे। उन्होंने कहा, अगर स्थानीय स्तर पर बातचीत की प्रक्रिया सोमवार को शुरू नहीं होती और आश्वासन के मुताबिक उचित माध्यम से इस मुद्दे को सरकार तक नहीं पहुंचाया जाता तो हम एक सप्ताह बाद दिल्ली लौटेंगे। एसएसपी कृष्णा ने कहा कि डीएनडी पर स्थिति सामान्य हो गई है और दोपहर के बाद से यातायात में कोई अवरोध पैदा नहीं हुआ।

Latest Articles