back to top

अफगानिस्तान: काबुल में बड़ी राजनीतिक सभा के निकट धमाका

काबुल। काबुल में बृहस्पतिवार को एक बड़ी राजनीतिक सभा के बाहर कई धमाके हुए। कार्यक्रम में अफगानिस्तान के मुख्य कार्यकारी और पूर्व राष्ट्रपति भी शामिल हुए थे, हालांकि घटना में दोनों सकुशल हैं। अधिकारियों ने बताया कि धमाके के तुरंत बाद हताहतों की संख्या के बारे में सूचना को लेकर विरोधाभास है। धमाके के तुरंत बाद स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी मोहैबुल्ला जहीर ने कहा कि काबुल के अस्पताल की शुरुआती पड़ताल में यह पता चला कि हमले में तीन लोग मारे गए हैं और 32 घायल हुए हैं।

उन्होंने कहा कि आंकड़े अंतिम नहीं हैं

हालांकि उन्होंने कहा कि आंकड़े अंतिम नहीं हैं। इससे पहले कार्यक्रम में मौजूद रहे अन्य अधिकारी ने बताया कि सात लोग मारे गए हैं और कम से कम 10 घायल हुए हैं। उन्होंने पत्रकारों से नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा कि धमाके के तुरंत बाद हताहतों की संख्या को लेकर कई आंकड़े सामने आ रहे हैं। हालांकि धमाके की जिम्मेदारी अब तक किसी ने नहीं ली है। अफगानिस्तान के गृह मंत्रालय के प्रवक्ता नुसरत रहीमी ने बताया कि मोर्टार के गोले दागे जाने के कारण यह धमाका हुआ और इस संबंध में एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है। रहीमी ने हताहतों की संख्या की जानकारी देने से इनकार कर दिया।

यह विस्फोट शिया हजारा नेता अब्दुल

यह विस्फोट शिया हजारा नेता अब्दुल अली मजारी की बरसी मनाने के लिए रखे गए एक कार्यक्रम के दौरान हुआ। इस कार्यक्रम में अफगानिस्तान के मुख्य कार्यकारी अब्दुल्ला अब्दुल्ला एवं पूर्व राष्ट्रपति हामिद करजई समेत देश के कई राजनीतिक दिग्गज शामिल हुए थे। रहीमी की तालिबान ने हत्या कर दी थी। ऐजाजुल्ला अमीनी नामक एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि कार्यक्रम में सैकड़ों लोग थे। कार्यक्रम पश्चिमी काबुल में दश्त-ए-बरछी इलाके में हो रहा था। यह घटना ऐसे समय में हुई है जब अमेरिका एवं तालिबान करीब 18 साल के संघर्ष को खत्म करने के लिए कतर में शांति वार्ता करना जारी रखे हुए हैं। अफगानिस्तान के बड़े हिस्सों में बर्फबारी की वजह से इन सर्दियों में हिंसा में कुछ कमी आई है लेकिन देश के दक्षिणी हिस्से में मौसम गर्म होने के चलते बसंत आते ही हिंसा के बढऩे की आशंका है।

Latest Articles